Exhibits

Back

Title

Uttam Tap

UTTAM TAP DHARMA: Supreme Austerity: Austerity is the way to control the desire. It is a process of separation of passion dirt from pure knowledge & perception bearing soul and that is the Supreme Austerity. The stoppage and shedding of karma can be achieved through austerity. It frees the soul from karmic dirt. Austerity brings exaltation. What else will cleanse this impurity of desire and lust? Penitent does not get disguised from righteousness due to afflictions. Austerity alone will help you escape the worldly affairs you are trapped in. Even the Chakravarty had to leave his throne and undertake severe penance and then he is worshiped in the three realms. So it is said that there is no greater virtue than penance.

उत्तम तप धर्म: इच्छा का निरोध करना तप है। जिसप्रकार से राग-द्वेष-मोह रूप मैल भिन्न हो जाए तथा शुद्ध ज्ञान-दर्शनमय आत्मा भिन्न हो जाए, वह तप है। कर्मों का संवर तथा निर्जरा करने का प्रधान कारण तप है । तप ही आत्मा को कर्म मल रहित करता है। तप के प्रभाव से यहाँ ही अनेक ऋद्धियाँ प्रकट हो जाती हैं, तप का अचिन्त्य प्रभाव है। तप बिना काम को, निद्रा को कौन मारे ? तप बिना इच्छाओं को कौन मारे? इंद्रियों के विषयों को मारने में तप ही समर्थ है। तप की साधना करनेवाला परिषह-उपसर्ग आदि आने पर भी रत्नत्रय धर्म से च्युत नहीं होता है। अतः तपधर्म को धारण करना ही उचित है। तप किये बिना संसार से छुटकारा नहीं होता है। चक्रवर्ती भी राज्य को छोड़कर तप धारण करके तीन लोक में वन्दन योग्य पूज्य हो जाते हैं। अतः तीन लोक में तप समान महान अन्य कुछ भी नहीं है।

Series

Das Dharma

Category

Paintings

Medium

Oil on Canvas

Size

22" x 28"

Orientation

Landscape

Artist

Anil Naik

Completion Year

13-Jan-2015

Bol

7