Exhibits

Back

Title

Vrushabh

Mother Marudevi in her dream sees a Vrushabh (Bullock) entering her mouth. King Nabhirai explains to the queen that she has conceived Rushabhdev, the first Tirthankar, propagator of eternal religion. Vrushabh is also the Symbol of the first Teerthankar Rushabhdev.

वृषभ - माता मरुदेवी को अपने सपने में एक वृषभ अपने मुँह में प्रवेश करता हुआ दिखता है। राजा नाभिराय रानी को बताते हैं कि आपने ,सनातन तीर्थ कर्ता प्रथम तीर्थंकर ऋषभदेव को गर्भ में धारण किया है। वृषभ, प्रथम तीर्थंकर ऋषभदेव का चिन्ह भी है।

Series

Sculpture Camp - Pune

Category

Sculptures

Medium

Glass Fibre

Size

31”x 31”x 20

Orientation

3D

Artist

Ratan Saha

Completion Year

05-Apr-2015